सहरसा टाईम्स - Saharsa Times

सीमेंट कारोबारियों के यहां छापेमारी

राजा कुमार की खास रिपोर्ट—
शुक्रवार को कहरा प्रखंड के रहुआ नहर के पास सीमेंट गोदाम में सदर एसडीओ सौरभ जोनवाल व उद्योग विभाग के पदाधिकारियों द्वारा संयुक्त रुप से छापेमारी की गई थी.छापेमारी में नकली सीमेंट बनाने की बात सामने आई। गोदाम संचालक के पकड़े जाने पर सत्तर कटेया प्रखंड के एक कारोबारी का नाम सूत्रों के हवाले से खबर आ रहा है।प्रखंड में जिस कारोबारी का नाम सामने आ रहा है वह सबसे पुराने सीमेंट कारोबारी है सीमेंट कारोबार से वह करोड़ों का अवैध संपत्ति अर्जित कर रखा है।
अगर सदर एसडीओ द्वारा पटोरी बाजार में भी सीमेंट गोदाम की जांच किया जाए तो निश्चित है  कई काले चेहरे सामने आने की आशंका है। सहरसा में हुए छापेमारी से कई कारोबारियों में हड़कंप मच गया है। जरा आप सोच सकते हैं एक गरीब आदमी दिन रात मेहनत कर अपने आशियाने का घर बनाता है एक रात खाना नहीं खा कर भी भूखे पेट सोकर घर का सपना देखता है और वह घर किसी डुप्लीकेट सीमेंट की बुनियाद पर खड़ी हो उस घर का भगवान ही मालिक हो सकता है। जिस तरह से लगातार प्राकृतिक आपदा आ रही है उससे कई घर डुप्लीकेट सीमेंट नीभ से धराशाही हो सकती है।  सीमेंट कारोबार के गोरख धनधा से आज करोड़ों रुपए की ब्लैकमनी अर्जित कर चुका है। अगर इसकी जांच सही तरीके से किया जाए तो अवैध संपत्ति का भी खुलासा होने की संभावना है। प्रतिदिन बालू गिट्टी व सीमेंट का व्यवसाय बढ़ता ही जा रहा है क्योंकि लोगों को लगता है कि डुप्लीकेट सीमेंट से लाखों का फायदा है। 

Exit mobile version